"MedicalWebPage", "FAQPage"

Get,

Free Doctor Tips

to manage your symptom

Get your,

FREE Doctor Tips Now!!

4 Cr+ families

benefitted

Enter your Phone Number

+91

|

Enter a valid mobile number

Send OTP

Verify your mobile number

OTP sent to 9988776655

CONGRATULATIONS!!!

You’ve successfully subscribed to receive

doctor-approved tips on Whatsapp


Get ready to feel your best.

Hi There,

Download the PharmEasy App now!!

AND AVAIL

AD FREE reading experience
Get 25% OFF on medicines
Banner Image

Register to Avail the Offer

Send OTP

By continuing, you agree with our Privacy Policy and Terms and Conditions

Success Banner Image

Verify your mobile number

OTP sent to 9988776655

Comments

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Leave your comment here

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25% OFF on medicines

Collect your coupon before the offer ends!!!

COLLECT

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली (Buscopan Injection 2ml in hindi): उपयोग, फायदे, साइड-इफेक्ट  

By Dr. Ritu Budania +2 more

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली की जानकारी  

बस्कोपान इंजेक्शन में हायोसिन (जिसे स्कोपोलामिन भी कहा जाता है) नामक दवा होती है। यह एंटीस्पास्मोडिक दवाओं के एक वर्ग की दवा है। ऐंठन से जुड़े दर्द से राहत देने के लिए बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग किया जाता है। यह आमतौर पर पित्ताशय में रुकावट, किडनी की पथरी आदि से संबंधित ऐंठन और कुछ सर्जरी के दौरान हो सकने वाली ऐंठन से राहत देने के लिए काम में लिया जाता है। 

यह इंजेक्शन केवल डॉक्टर या हेल्थ केयर प्रोवाइडर द्वारा ही दिया जाना चाहिए और इसे खुद से नहीं लगाना चाहिए। इंजेक्शन डॉक्टर की देखरेख में लिया जाना चाहिए। अगर आपको किडनी या लिवर से जुड़ी कोई समस्या है, या आप बहुत शराब पीते हैं, तो आपको बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से कंसल्ट कर लेना चाहिए। 

buscopan injection: uses, benefits & side effects

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली के उपयोग (Uses of Buscopan 2ml Injection in Hindi) 

बस्कोपान इंजेक्शन मांसपेशियों की ऐंठन के इलाज के लिए उपयोगी है। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली का उपयोग न करें 

  • अगर आपको हायोसिन या बस्कोपान इंजेक्शन के किसी और घटक से एलर्जी है। 
  • अगर आपको ग्लूकोमा है (एक ऐसी बीमारी जिसमें आंखों में दबाव बढ़ने लग जाता है और धीरे-धीरे आंखों की रोशनी कम हो जाती है।) 
  • अगर आपको पेट और आंतों से जुड़ी कोई समस्या है। 
  • अगर आपको प्रोस्टेटिक हाइपरट्रॉफी है (पुरुषों में पाई जाने वाली एक स्थिति, जिसमें पेशाब करने में कठिनाई होना, बार-बार पेशाब जाने की इच्छा होना और पेशाब टपकना आदि जैसी समस्याएं आती हैं।) 
  • अगर आप एक ऐसी स्थिति से पीड़ित हैं जिसमें आंतें ब्लॉक हो जाती है और उसके कारण पेट में तेज दर्द, भूख न लगना, कब्ज, उल्टी होना और पेट में सूजन आना आदि जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं। 
  • अगर आपको पैरालिटिक इलियस है (आंत की नसों और मांसपेशियों का ठीक से काम न करना, जिससे पेट में ऐंठन, भूख कम लगना, पेट भरा-भरा लगना, कब्ज, पेट में सूजन और उल्टी जैसे लक्षण पैदा होते हैं)। 
  • अगर आपको मेगाकोलन (बड़ी आंत का असामान्य फैलाव) की समस्या है। 
  • अगर आपकी हार्टबीट तेज चलती है या बढ़ गई है। 
  • अगर आपको मायस्थेनिया ग्रेविस है (एक बीमारी जो शरीर में मांसपेशियों की कमजोरी पैदा करती है, जिसके कारण चीजें दोहरी दिखाई देना, बात करने में परेशानी, चलने में परेशानी, आंखों की पलकें लटक जाना आदि जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं।) 
  • आप गर्भवती (प्रेग्नेंट) हैं, या बच्चे को दूध पिला रही हैं। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली के साइड इफेक्ट (नुकसान) 

  • चक्कर आना 
  • मुंह में सूखापन 
  • इंजेक्शन लगाने की जगह पर दर्द होना 
  • कब्ज 
  • पेशाब करने में परेशानी होना 
  • बहुत ज्यादा पसीना आना 
  • चेहरा लाल पड़ना 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली के लिए सावधानियां और चेतावनियां 

गर्भावस्था (प्रेग्नेंसी) 

क्या मैं प्रेग्नेंसी (गर्भावस्था) के दौरान बस्कोपान इंजेक्शन ले सकती हूं? 

बस्कोपान इंजेक्शन के प्रेग्नेंसी में सुरक्षित होने के बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसलिए इसका प्रेग्नेंसी में उपयोग नहीं करना चाहिए। 

ब्रेस्ट फीडिंग (स्तनपान करवाने के दौरान) 

मैं ब्रेस्टफीडिंग (स्तनपान) करवाती हूं, क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन ले सकती हूं? 

ब्रेस्टफीडिंग करवाने के दौरान बस्कोपान के प्रभावों के बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसलिए ब्रेस्टफीडिंग करवा रही मां को इस दवा का उपयोग डॉक्टर द्वारा प्रेस्क्राइब किए जाने पर ही करना चाहिए। 

ड्राइविंग (गाड़ी चलाना) 

अगर मैंने बस्कोपान इंजेक्शन लिया है तो क्या मैं ड्राइविंग कर सकता/सकती हूं? 

बस्कोपान इंजेक्शन से नजर धुंधलाने और चक्कर आने की समस्या आ सकती है। इसलिए, अगर आप वाहन चला रहे हैं या भारी मशीनरी का संचालन कर रहे हैं तो आपको यह इंजेक्शन नहीं लेना चाहिए। 

शराब या एल्कोहल 

क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन के साथ शराब पी सकता/सकती हूं? 

बस्कोपान इंजेक्शन के साथ शराब पीने से आपको चक्कर आने और उनींदेपन की समस्या आ सकती है। इसलिए, आपको यह दवा लेते समय शराब नहीं पीनी चाहिए। 

अन्य सामान्य चेतावनियां  

अपने डॉक्टर से बात करें, अगर 

  • अगर आपको हार्ट से जुड़ी समस्याएं हैं, जैसे हार्ट में पंपिंग में समस्या, जैसे कि हार्ट की पंपिंग से जुड़ी समस्याएं, हार्ट की रिदम से जुड़ी समस्याएं, हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट सर्जरी आदि। क्योंकि बस्कोपान के कारण हार्टबीट में बढ़ोत्तरी, ब्लड प्रेशर में कमी और एलर्जी के साथ-साथ सांस लेने में समस्या आ सकती है। 
  • आपके शरीर का तापमान अधिक है, क्योंकि बस्कोपान से पसीना कम आता है, इसलिए आपको सावधानी बरतनी चाहिए 
  • आपको थायराइड से संबंधित कोई समस्या है। 
  • आपको बस्कोपान इंजेक्शन लेने के बाद भी पेट में तेज दर्द होता है, बुखार, मतली, उल्टी, ब्लड प्रेशर में कमी, बेहोशी और मल में खून आने जैसे लक्षण महसूस होते हैं, तो आगे की जांच के लिए तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। 
  • इस दवा का उपयोग करने के बाद आपकी आंखों में दर्द या लालपन की समस्या आती है, या दिखाई देना कम हो जाता है, तो तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें। इसका कारण यह है कि यह दवा आंखों में दवाब को बढ़ाती है, अगर आप ग्लूकोमा से पीड़ित हैं, तो समस्या और भी गंभीर हो जाती है। 
  • इंजेक्शन लेने के बाद हमेशा किसी गंभीर एलर्जिक रिएक्शन या शॉक और सांस लेने की तकलीफों का ध्यान रखें, ये सभी लक्षण गंभीर एनाफिलेक्टिक रिएक्शन का संकेत हो सकते हैं। 
  • पेट दर्द की परेशानी के लिए डॉक्टर से कंसल्ट किए बिना या जांच के बिना यह दवा रोजाना नहीं ली जानी चाहिए। 
  • बच्चों में इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली के उपयोग के लिए निर्देश  

  • बस्कोपान इंजेक्शन को आपकी नस या मांसपेशी में इंजेक्शन के रूप में दिया जाता है। आपका डॉक्टर या प्रशिक्षित नर्सिंग स्टाफ यह इंजेक्शन देगा। 
  • इस दवा को स्वयं इंजेक्ट न करें। इसे आपके डॉक्टर के अनुसार निर्धारित फ्रीक्वेंसी में ही लिया जाना चाहिए। 
  • लक्षणों में सुधार या बिगड़ने के बारे में समय-समय पर फॉलोअप करें। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली का स्टोरेज और डिस्पोजल 

  • बस्कोपान इंजेक्शन को 30°C से कम तापमान पर स्टोर किया जाना चाहिए। 
  • इस दवा को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली की डोज़

ओवरडोज़ (अधिक डोज़ ले लेना) 

बस्कोपान इंजेक्शन की ओवरडोज़ होने की संभावना नहीं होती है, क्योंकि यह इंजेक्शन एक हॉस्पिटल या क्लिनिक में एक अनुभवी हेल्थ केयर प्रोफेशनल द्वारा दिया जाता है। अगर आपको इस इंजेक्शन को लेने के बाद कोई असामान्य लक्षण महसूस होता है तो अपने डॉक्टर को बताएं। 

एक डोज़ (खुराक) छूटने पर क्या करें  

हालांकि, बस्कोपान इंजेक्शन आपको आपके हेल्थ केयर प्रोवाइडर द्वारा दिया जाएगा, लेकिन अगर वे एक डोज़ लगाना भूल जाते हैं, तो उनको इस बारे में बताएं। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली का काम करने का तरीका (मोड ऑफ एक्शन) 

यह दवा कैसे काम करती है? 

चोट या ऐंठन के जवाब में शरीर में कुछ रासायनिक पदार्थ या केमिकल्स निकलते हैं, जो आंत, पेट, यूरेटर और ब्लैडर (दोनों यूरिनरी सिस्टम का हिस्सा हैं) की मांसपेशियों में मरोड़ वाला दर्द पैदा करते हैं। यह मरोड़ या ऐंठन हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं। बस्कोपान इन रसायनों (केमिकल्स) के प्रभाव को रोकता है। तो, दर्द से जुड़ी सभी मांसपेशियां शिथिल (रिलेक्स) हो जाती हैं और दर्द से राहत मिल जाती है। 

बस्कोपान इंजेक्शन 2 मिली की इंटरैक्शन (दूसरी दवाओं के साथ क्रिया) 

दूसरी दवाओं के साथ इंटरैक्शन 

  • बस्कोपान इंजेक्शन को इंट्रामस्क्युलर रूट से उन मरीजों को नहीं दिया जाना चाहिए, जिनका खून पतला करने वाली दवाओं जैसे कि वारफेरिन, एपिक्सैबन, डाबीगेट्रान आदि के साथ इलाज किया जा रहा है, क्योंकि इससे हेमेटोमा (स्किन के नीचे खून इकट्ठा हो जाना) बनने की संभावना हो जाती है। 
  • बस्कोपान इंजेक्शन कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट को बढ़ाता है जैसे कि – मानसिक बीमारियों में इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं जैसे डॉक्सेपिन, एंटीहिस्टामिनिक्स (एलर्जी में इस्तेमाल की जाती है), क्विनिडिन (हार्ट की समस्याओं में इस्तेमाल की जाती है), एमेंटेडिन (वायरस के संक्रमण और मूवमेंट डिसऑर्डर में इस्तेमाल की जाती है), डिसोपायरामाइड (हार्ट की रिदम से जुड़ी समस्याओं में काम आती है) और इप्रेट्रोपियम (अस्थमा में काम ली जाती है)। 
  • इस दवा को एपिनेफ्रीन (हार्ट की रिदम बहाल करने के लिए तथा ग्लूकोमा और अस्थमा में राहत देने के लिए काम में ली जाती है), डोबुटामाइन (हार्ट में पंपिंग की समस्याओं में काम आती है), ओर्सीप्रिनलाइन (अस्थमा और सांस लेने की अन्य समस्याओं में काम आती है), रिटोड्रिन (समय से पहले प्रसव को कंट्रोल करने में काम आती है), साल्मेट्रोल (अस्थमा में राहत देने के लिए काम में ली जाती है) जैसी दवाओं के साथ लेने पर आपको हार्टबीट बढ़ने की समस्या आ सकती है। 
  • अगर आप बस्कोपान इंजेक्शन के साथ मेटोक्लोप्रमाइड (मतली के लिए) जैसी दवाएं लेते हैं, तो दोनों दवाओं का असर कम हो जाता है। 

Read in English: Buscopan 2ml Injection: Uses, benefits & side effects

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ) 

बस्कोपान इंजेक्शन क्या काम आता है?

इसका उपयोग रीनल कोलिक (किडनी में पथरी के कारण होने वाले दर्द), बिलियरी कोलिक (पित्ताशय की पथरी के कारण पित्त नली में रुकावट के कारण होने वाला दर्द) के कारण मांसपेशियों में ऐंठन के इलाज के लिए किया जाता है और इसका उपयोग कुछ सर्जिकल प्रक्रियाओं के दौरान भी किया जाता है, जिनमें ऐंठन वाले दर्द की समस्या आ सकती है। 

वयस्कों के लिए बस्कोपान इंजेक्शन की डोज़ (खुराक) क्या है? 

बीमारी के आधार पर हर व्यक्ति के लिए डोज़ और इलाज की अवधि अलग-अलग होती है। डॉक्टर पहले आपकी समस्या की जांच करेगा और उसके बाद उस आधार पर आपके लिए डोज़ निर्धारित करेगा। 

अगर मुझे आंखों में समस्या है, तो क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन ले सकता/सकती हूं?

नहीं, बस्कोपान आंखों में दबाव बढ़ा सकता है। इसलिए अगर आप यह इंजेक्शन लेते हैं, तो आपके लक्षण और बिगड़ सकते हैं और आपकी आंखें और खराब हो सकती हैं।

बस्कोपान इंजेक्शन में क्या शामिल होता है? 

बस्कोपान इंजेक्शन में एक दवा, स्कोपोलामाइन या हायोसिन होती है। यह एक एंटीस्पैजमोडिक (मरोड़ या ऐंठन रोधी) दवा है।

क्या हम बच्चों में बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग कर सकते हैं?

नहीं, बच्चों में बस्कोपान इंजेक्शन नहीं देना चाहिए।

क्या बस्कोगास्ट और बस्कोपान एक ही हैं?

दोनों में सक्रिय घटक (एक्टिव इनग्रेडिएंट) के रूप में हायोसिन होता है और स्मूथ मसल्स में ऐंठन के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली एंटीस्पाज्मोडिक दवाओं की श्रेणी से संबंधित होता है और इससे जुड़े दर्द से राहत देता है। 

मेरे पेट में दर्द हो रहा है, क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग कर सकता/सकती हूं? 

पेट में दर्द कई कारणों से हो सकता है। बेहतर यही होगा कि आप अपनी मर्जी से इसका इलाज करने की कोशिश न करें। हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें। डॉक्टर आपकी सावधानी से जांच और क्लिनिकल परीक्षण करेगा और फिर आपके लिए दवा लिखेगा। आपको अपने डॉक्टर द्वारा बताई गई डोज़ और फ्रीक्वेंसी में ही यह दवा लेनी चाहिए। 

क्या मैं खून पतला करने वाली दवाओं (ब्लड थिनर्स) के साथ बस्कोपान इंजेक्शन ले सकता/सकती हूं?

बस्कोपान इंजेक्शन को इंट्रामस्क्युलर रूट से उन मरीजों को नहीं दिया जाना चाहिए, जिनका खून पतला करने वाली दवाओं जैसे कि वारफेरिन, एपिक्सैबन, डाबीगेट्रान आदि के साथ इलाज किया जा रहा है, क्योंकि इससे स्किन के नीचे खून इकट्ठा होने की संभावना हो जाती है।

मैं एलर्जी के लिए दवाइयां भी ले रहा/रही हूं, क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग कर सकता/सकती हूं?

एलर्जी में दी जाने वाली दवाओं में से एक समूह की दवाओं को एंटी-हिस्टामिनिक कहा जाता है। अगर आप इन दवाओं के साथ बस्कोपान इंजेक्शन लेते हैं, तो बस्कोपान के साइड इफेक्ट बढ़ सकते हैं। इसलिए हमेशा अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं।

मुझे दमा (अस्थमा) है; क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन ले सकता/सकती हूं?

अस्थमा के इलाज के लिए दी जा रही दवाओं के साथ बस्कोपान इंजेक्शन देने से इसके खुद के और अस्थमा की दवाओं के साइड इफेक्ट बढ़ सकते हैं। इसलिए आप जो भी दवाएं ले रहे हैं या आपको जो भी मेडिकल स्थिति है, उसके बारे में डॉक्टर को जानकारी दें।

बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग किसे नहीं करना चाहिए?

जिन लोगों को हायोसिन से एलर्जी है, उन्हें बस्कोपान इंजेक्शन का उपयोग नहीं करना चाहिए। अगर आप आंखों में दबाव बढ़ने की समस्या है (ग्लूकोमा), पेट या आंत में तकलीफ है, प्रोस्टेट बढ़ी हुई है, पेट और आंत में ब्लॉकेज है, या हार्टबीट अनियमित है, तो आपको यह इंजेक्शन नहीं लेना चाहिए।  यह दवा लेने से पहले आपको अपनी मेडिकल कंडीशन के बारे में अपने डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए। 

क्या बस्कोपान इंजेक्शन बच्चों को दिया जा सकता है?

विशेष रूप से 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को बस्कोपान इंजेक्शन नहीं देना चाहिए। कृपया अपने डॉक्टर से कंसल्ट किए बिना कोई भी दवा न लें।

क्या मैं बस्कोपान इंजेक्शन लेने के बाद शराब पी सकता/सकती हूं?

बस्कोपान इंजेक्शन लेने के बाद आपको शराब नहीं पीनी चाहिए, क्योंकि इससे आपको चक्कर आ सकते हैं और साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ सकता है।

बस्कोपान कहां इंजेक्ट किया जाता है? 

बस्कोपान इंजेक्शन केवल हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स द्वारा ही दिया जाना चाहिए। इसे खुद से नहीं लगाना चाहिए। इसे कैसे लगाना है, यह आपका डॉक्टर तय करेगा।

बस्कोपान इंजेक्शन को काम करने में कितना समय लगता है?

बस्कोपान इंजेक्शन लगाए जाने के 15 मिनट के भीतर काम करना शुरू कर देगा।

बस्कोपान इंजेक्शन के साइड इफेक्ट्स (दुष्प्रभाव) क्या हैं?

बस्कोपान इंजेक्शन के कारण चक्कर आना, मुंह में सूखापन, इंजेक्शन लगाने की जगह पर दर्द, कब्ज आदि जैसे कुछ साइड इफेक्ट देखे जा सकते हैं। हालांकि ये सभी लक्षण थोड़े हल्के होते हैं और धीरे-धीरे अपने आप ठीक हो जाते हैं। 

इंजेक्शन बस्कोपान में क्या होता है?

बस्कोपान इंजेक्शन में हायोसिन (जिसे स्कोपोलामिन भी कहा जाता है) नामक दवा होती है। यह एंटीस्पास्मोडिक दवाओं के एक वर्ग की दवा है। 

Disclaimer: The information provided herein is supplied to the best of our abilities to make it accurate and reliable as it is published after a review by a team of professionals. This information is solely intended to provide a general overview on the product and must be used for informational purposes only. You should not use the information provided herein to diagnose, prevent, or cure a health problem. Nothing contained on this page is intended to create a doctor-patient relationship, replace or be a substitute for a registered medical practitioner’s medical treatment/advice or consultation. The absence of any information or warning to any medicine shall not be considered and assumed as an implied assurance. We highly recommend that you consult your registered medical practitioner for all queries or doubts related to your medical condition. You hereby agree that you shall not make any health or medical-related decision based in whole or in part on anything contained in the Site. Please click here for detailed T&C.

Comments

Leave your comment...



You may also like